Headlines

Gangster to Chandramukhi 2 : कंगना रनौत का शानदार फ़िल्मी सफर , कंगना ने बटोरे हुए अवार्ड्स और फिल्मोमें आनेसे पहलेकी कंगना की लाइफ

Table of Contents

Gangster to Chandramukhi 2 : कंगना रनौत का शानदार फ़िल्मी सफर , कंगना ने बटोरे हुए अवार्ड्स और फिल्मोमें आनेसे पहलेकी कंगना की लाइफ

Gangster to Chandramukhi 2 : हाल ही में याने 28 सितम्बर को कंगना रनौत की चंद्रमुखी 2 फिल्म रिलीज़ हुयी। फिल्म को काफी सराहा जा रहा है और कंगना की एक्टिंग और डांसिंग दर्षकोंको काफी पसंद आ रहा है। ट्विटर पर कंगना के काम की उनके फैंस ने जमकर तारीफ की है।

updated : 29 September 2023

 

photo : Scroll.in

 

कंगना रनौत एक ऐसी अभिनेत्री हैं जिन्होंने बॉलीवुड फिल्म उद्योग पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाला है। कई प्रकार के शानदार रोल करनेका कंगनाको मौका मिला। उन मौकोंका उन्होंने बखूबी फायदा उठाकर अपना काम पूरी ईमानदारी के साथ किया है। उनके फिल्मी करियर को आलोचनात्मक प्रशंसा और व्यावसायिक सफलता मिली है। उनके फ़िल्मी करियर की कुछ प्रमुख झलकियाँ इस प्रकार हैं:

गैंगस्टर (2006):

कंगना ने अनुराग बसु द्वारा निर्देशित फिल्म “गैंगस्टर” से अभिनय की शुरुआत की। सिमरन के रूप में उनके प्रदर्शन को व्यापक रूप से सराहा गया, जिससे उन्हें सर्वश्रेष्ठ महिला पदार्पण के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार मिला।

वो लम्हे (2006):

उन्होंने “वो लम्हे” में एक चुनौतीपूर्ण भूमिका के साथ अपनी शुरुआत की, यह फिल्म दिवंगत अभिनेत्री परवीन बाबी के जीवन पर आधारित थी। सना अजीम के उनके किरदार को आलोचकों की प्रशंसा मिली।

लाइफ इन ए… मेट्रो (2007):

इस फिल्म में अपनी भूमिका के लिए कंगना को और भी प्रशंसा मिली। उन्होंने एक जटिल और भावनात्मक रूप से परेशान महिला नेहा का किरदार निभाया।

फैशन (2008):

फिल्म “फैशन” में शोनाली गुजराल की भूमिका के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार मिला। इस फिल्म ने एक अभिनेत्री के रूप में उनकी बहुमुखी प्रतिभा को प्रदर्शित किया।

क्वीन (2014):

“क्वीन” को कंगना की सबसे प्रतिष्ठित फिल्मों में से एक माना जाता है। रानी मेहरा नामक एक महिला के उनके किरदार ने, जो अपनी शादी टूटने के बाद यूरोप में अकेले हनीमून ट्रिप पर निकलती है, उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार सहित कई पुरस्कार दिलाए।

तनु वेड्स मनु सीरीज़ (2011, 2015):

कंगना ने “तनु वेड्स मनु” और इसके सीक्वल “तनु वेड्स मनु रिटर्न्स” दोनों में तनु की मुख्य भूमिका निभाई। दोनों फिल्मों में उनके अभिनय को काफी सराहा गया और वे बॉक्स ऑफिस पर सफल रहीं।

मणिकर्णिका:

द क्वीन ऑफ़ झाँसी (2019): झाँसी की योद्धा रानी लक्ष्मीबाई की जीवनी पर आधारित इस फिल्म में कंगना ने न केवल अभिनय किया बल्कि इसका निर्देशन भी किया। फिल्म ने एक फिल्म निर्माता के रूप में भी उनकी बहुमुखी प्रतिभा को प्रदर्शित किया।

थलाइवी (2021):

इस जीवनी पर आधारित फिल्म में कंगना ने दिवंगत भारतीय राजनीतिज्ञ और अभिनेत्री जे. जयललिता की भूमिका निभाई। उनके प्रदर्शन को मिश्रित समीक्षाएँ मिलीं, लेकिन भूमिका के प्रति उनके समर्पण के लिए उनकी प्रशंसा की गई।

कंगना रनौत अपने मुखर स्वभाव के लिए जानी जाती हैं और फिल्म उद्योग और सामाजिक मुद्दों से संबंधित विभिन्न विवादों और चर्चाओं में शामिल रही हैं। किसी मुद्दे पर अपनी राय देनेपर कंगना हमेशा आगे रहती है। उनके इसी स्वाभाव के कारन अक्सर उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है , लेकिन फिर भी वो पीछे नहीं हटती। अपनी बात खुलकर कहना पसंद करती है।

 

Gangster to Chandramukhi 2
Gangster to Chandramukhi 2

 

कंगना रनौत को भारतीय सिनेमा में उनके प्रदर्शन के लिए कई पुरस्कार और प्रशंसाएं मिली हैं। यहां उनके द्वारा जीते गए कुछ उल्लेखनीय पुरस्कार और सम्मान दिए गए हैं:

राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार:

फिल्म “फैशन” (2008) में उनकी भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार।

फिल्म “क्वीन” (2014) में रानी मेहरा के किरदार के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार।

 

फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार:

“गैंगस्टर” (2006) में उनके प्रदर्शन के लिए सर्वश्रेष्ठ नवोदित महिला का फिल्मफेयर पुरस्कार।

“फैशन” (2008) में उनकी भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार।

“क्वीन” (2015) में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार।

“तनु वेड्स मनु” (2012) और “मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ़ झाँसी” (2020) में उनकी भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री (आलोचक) का फिल्मफेयर पुरस्कार।

 

अन्य पुरस्कार एवं सम्मान:

आईफा पुरस्कार: कंगना ने कई अंतर्राष्ट्रीय भारतीय फिल्म अकादमी पुरस्कार जीते हैं, जिनमें “गैंगस्टर” के लिए सर्वश्रेष्ठ महिला पदार्पण और “क्वीन” के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री शामिल हैं।

 

स्क्रीन पुरस्कार:

उन्हें कई स्क्रीन पुरस्कार मिले हैं, जिनमें “फैशन” के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री और “क्वीन” के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री शामिल हैं।

 

स्टारडस्ट अवार्ड्स:

कंगना को विभिन्न फिल्मों में उनकी भूमिकाओं के लिए सुपरस्टार ऑफ़ टुमॉरो (महिला) और सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री जैसी विभिन्न श्रेणियों में स्टारडस्ट अवार्ड्स से सम्मानित किया गया है।

 

ज़ी सिने अवार्ड्स:

उन्होंने “फैशन” और “क्वीन” जैसी फिल्मों में अपने प्रदर्शन के लिए ज़ी सिने अवार्ड्स जीते हैं।

 

अन्य मान्यताएँ:

कंगना रनौत को भारतीय सिनेमा में उनके योगदान के लिए विभिन्न फिल्म समारोहों और संगठनों से मान्यता और पुरस्कार मिले हैं।

 

photo : Koimoi

 

फिल्मोमें आनेसे पहले कंगना रनौत की लाइफ कैसी थी? आईये जानते है :

में फिल्म उद्योग में प्रवेश करने से पहले कंगना रनौत का प्रारंभिक जीवन एक छोटे शहरमें ही गुजरा था। छोटे शहर से लेकर से बॉलीवुड की प्रमुख अभिनेत्रियों में से एक बनने तक का सफर निश्चित रूप से आसान नहीं था। लेकिन उन्होंने ये साबित कर दिया के , कोई फरक नहीं पड़ता अगर आप छोटे शहर से हो , लेकिन आप मेहनत करोगे तो एक दिन बड़ा मुकाम हासिल जरूर करोगे। यहां उनके प्रारंभिक जीवन का संक्षिप्त विवरण दिया गया है:

1. जन्म और पारिवारिक पृष्ठभूमि:

कंगना रनौत का जन्म 23 मार्च 1986 को भारत के हिमाचल प्रदेश के एक छोटे से शहर भांबला (अब सूरजपुर के नाम से जाना जाता है) में हुआ था। उनका जन्म एक राजपूत परिवार में हुआ था। उनके पिता, अमरदीप रानौत, एक व्यवसायी हैं, और उनकी माँ, आशा रानौत, एक स्कूल शिक्षिका हैं।

2. बचपन:

कंगना हिमाचल प्रदेश के पहाड़ों में एक साधारण परिवार में पली बढ़ीं। उन्होंने अपने चुनौतीपूर्ण बचपन के बारे में बात की है, जिसमें वित्तीय कठिनाइयों और उनके परिवार में रूढ़िवादी माहौल भी शामिल है। उन्होंने खुलासा किया है कि उनका परिवार शुरू में उनके अभिनय में करियर बनाने के विरोध में था।

3. शिक्षा:

कंगना ने अपनी स्कूली शिक्षा देहरादून में पूरी की और बाद में दिल्ली चली गईं, जहां उन्होंने डीएवी कॉलेज में विज्ञान में स्नातक की पढ़ाई की। हालाँकि, मॉडलिंग और अभिनय में उनकी रुचि के कारण उन्हें कॉलेज छोड़ना पड़ा और अपने सपनों को पूरा करने के लिए मुंबई आ गईं।

4. मुंबई में शुरुआती संघर्ष:

कई महत्वाकांक्षी अभिनेताओं की तरह, मुंबई आने पर कंगना को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा। शुरुआत में उसे काम और आवास खोजने के लिए संघर्ष करना पड़ा। फिल्म उद्योग में उनकी यात्रा आसान नहीं थी और उन्हें विभिन्न हलकों से अस्वीकृति और संदेह का सामना करना पड़ा।

5. बॉलीवुड में प्रवेश:

शुरुआती संघर्षों के बावजूद, कंगना की प्रतिभा और दृढ़ संकल्प ने अंततः फिल्म निर्माताओं का ध्यान खींचा। उन्होंने 2006 में अनुराग बसु द्वारा निर्देशित “गैंगस्टर” से फिल्म उद्योग में अपनी शुरुआत की। फिल्म में उनके प्रभावशाली प्रदर्शन ने उनके सफल अभिनय करियर की शुरुआत की।

हिमाचल प्रदेश के एक छोटे से शहर से एक प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेत्री बनने तक की कंगना रनौत की यात्रा को अक्सर दृढ़ता और प्रतिभा की एक प्रेरक कहानी के रूप में उद्धृत किया जाता है। उन्होंने इंडस्ट्री में अपने अनुभवों और चुनौतियों के बारे में खुलकर बात की है और उनका स्टारडम तक पहुंचना उनके समर्पण और अभिनय क्षमताओं का प्रमाण है।

 

To know more about Kangana and her filmy career pls read  Click here.

List of roles and awards Kangana received Click here.

To know or read more about blogs Click here.

 

Leave a Reply

%d