Headlines

6 Health Benefits of Curd : रोजाना दही खानेके 6 अनोखे फायदे !!

Table of Contents

6 Health Benefits of Curd : रोजाना दही खानेके 6 अनोखे फायदे !!

दही एक लोकप्रिय डेयरी उत्पाद है जो जीवित जीवाणु संस्कृतियों के साथ दूध को किण्वित करके बनाया जाता है। इसे आमतौर पर एक स्टैंडअलोन स्नैक के रूप में खाया जाता है, विभिन्न व्यंजनों में एक घटक के रूप में उपयोग किया जाता है, या भोजन के साथ इसका आनंद लिया जाता है।

updated: 13July 2023 (6.00 pm IST)

दही के बारे में कुछ मुख्य बातें इस प्रकार हैं:

तैयारी:  Preparation

दूध में लैक्टोबैसिलस बुल्गारिकस और स्ट्रेप्टोकोकस थर्मोफिलस जैसे बैक्टीरिया के विशिष्ट उपभेदों वाले स्टार्टर कल्चर की थोड़ी मात्रा मिलाकर दही बनाया जाता है। बैक्टीरिया दूध में लैक्टोज को किण्वित करते हैं, इसे लैक्टिक एसिड में परिवर्तित करते हैं, जो दही को अपना विशिष्ट तीखा स्वाद और गाढ़ा बनावट देता है।

पोषण संबंधी संरचना:  Nutritional Composition

दही पोषक तत्वों से भरपूर है और कई आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है।

यह प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस, पोटेशियम, विटामिन बी12 और राइबोफ्लेविन का अच्छा स्रोत है। सटीक पोषण सामग्री उपयोग किए गए दूध के प्रकार और विशिष्ट ब्रांड या तैयारी विधि के आधार पर भिन्न हो सकती है।

प्रोबायोटिक लाभ:  Probiotic Benefits

दही में प्रोबायोटिक्स के रूप में जाने जाने वाले लाभकारी बैक्टीरिया की जीवित और सक्रिय संस्कृतियाँ होती हैं।

ये प्रोबायोटिक्स लाभकारी आंत बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देकर, पाचन में सहायता करके और स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली का समर्थन करके आंत के स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं।

पाचन संबंधी लाभ:    Digestive Benefits

दही में प्रोबायोटिक्स की मौजूदगी लैक्टोज को तोड़ने में मदद कर सकती है, जिससे यह लैक्टोज असहिष्णुता वाले व्यक्तियों के लिए अधिक आसानी से पचने योग्य बन जाता है।

इसके अतिरिक्त, किण्वन प्रक्रिया एंजाइम बनाती है जो प्रोटीन को तोड़ने में मदद करती है, जिससे संभावित रूप से समग्र पाचन में सुधार होता है।

पाककला अनुप्रयोगों में बहुमुखी प्रतिभा:   Versatility in Culinary Applications

दही एक बहुमुखी सामग्री है जिसका उपयोग विभिन्न पाक तैयारियों में किया जाता है। इसका सादा आनंद लिया जा सकता है, फलों या शहद के साथ मिलाया जा सकता है, या स्मूदी, लस्सी (दही पर आधारित पेय), या सलाद ड्रेसिंग के लिए आधार के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

दही का उपयोग आमतौर पर भारतीय व्यंजनों में रायता, दही वड़ा, कढ़ी और मैरीनेटेड मांस या सब्जी करी जैसे व्यंजन बनाने के लिए भी किया जाता है।

शीतलता और सुखदायक प्रभाव:  Cooling and Soothing Effect:

दही अक्सर शरीर पर शीतलता और सुखदायक प्रभाव से जुड़ा होता है।

इसका सेवन आमतौर पर गर्म मौसम के दौरान या मसालेदार भोजन के बाद गर्मी या परेशानी से राहत पाने के लिए किया जाता है।

चयन और भंडारण:    Selection and Storage

दही खरीदते समय, उत्पाद में मौजूद जीवित और सक्रिय संस्कृतियों की जानकारी के लिए लेबल की जांच करने की सलाह दी जाती है।

कम से कम चीनी वाली सादा दही चुनना और कृत्रिम स्वाद या मिठास वाली किस्मों से बचना सबसे अच्छा है।

दही की गुणवत्ता और ताजगी बनाए रखने के लिए उचित प्रशीतन आवश्यक है।

कुल मिलाकर, दही एक पौष्टिक और बहुमुखी डेयरी उत्पाद है जो विभिन्न स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है।

इसकी प्रोबायोटिक सामग्री, इसकी समृद्ध पोषक प्रोफ़ाइल के साथ, इसे संतुलित आहार के लिए एक मूल्यवान अतिरिक्त बनाती है।

दही, एक किण्वित डेयरी उत्पाद, अपनी पोषण संरचना और प्रोबायोटिक सामग्री के कारण विभिन्न स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। दही के सेवन से होने वाले कुछ स्वास्थ्य लाभ इस प्रकार हैं:

1.आंत के स्वास्थ्य के लिए प्रोबायोटिक्स:  Probiotics for Gut Health:

दही में लाभकारी बैक्टीरिया की जीवित और सक्रिय संस्कृतियाँ होती हैं, जिन्हें प्रोबायोटिक्स के रूप में जाना जाता है।

ये प्रोबायोटिक्स आंत बैक्टीरिया के स्वस्थ संतुलन को बनाए रखने, पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और दस्त, कब्ज और चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम जैसे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल मुद्दों के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं।

2.बेहतर पाचन और पोषक तत्वों का अवशोषण: Improved Digestion and Nutrient Absorption:

दही में मौजूद प्रोबायोटिक्स दूध में पाई जाने वाली चीनी लैक्टोज को तोड़ने में सहायता करते हैं।

इसलिए, लैक्टोज असहिष्णुता वाले व्यक्तियों को दही पचाने में आसान लग सकता है। इसके अतिरिक्त, प्रोबायोटिक्स की उपस्थिति अन्य खाद्य पदार्थों से कैल्शियम सहित कुछ पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ा सकती है।

3.उन्नत प्रतिरक्षा कार्य:  Enhanced Immune Function

दही में मौजूद प्रोबायोटिक्स आंत में लाभकारी बैक्टीरिया के विकास का समर्थन करके प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर सकते हैं।

एक स्वस्थ आंत माइक्रोबायोम प्रतिरक्षा समारोह से निकटता से जुड़ा हुआ है, और नियमित रूप से दही का सेवन संक्रमण के जोखिम को कम करने और समग्र प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

3.हड्डियों का स्वास्थ्य: Bone Health

दही कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत है, जो स्वस्थ हड्डियों और दांतों को बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

दही में मौजूद विटामिन डी और अन्य पोषक तत्वों के साथ पर्याप्त कैल्शियम का सेवन, हड्डियों के इष्टतम स्वास्थ्य में योगदान कर सकता है और ऑस्टियोपोरोसिस और फ्रैक्चर के जोखिम को कम कर सकता है।

4.प्रोटीन और पोषक तत्व:  Protein and Nutrient Content:

दही प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है, जो ऊतकों के निर्माण और मरम्मत, मांसपेशियों के स्वास्थ्य का समर्थन करने और चयापचय को विनियमित करने के लिए आवश्यक है। यह विटामिन बी12, राइबोफ्लेविन (विटामिन बी2), फॉस्फोरस और पोटेशियम जैसे आवश्यक पोषक तत्व भी प्रदान करता है।

5.वजन प्रबंधन: Weight Management:

संतुलित आहार में दही को शामिल करने से वजन प्रबंधन प्रयासों में मदद मिल सकती है।

उच्च प्रोटीन सामग्री तृप्ति की भावना को बढ़ाने और समग्र कैलोरी सेवन को कम करने में मदद कर सकती है। इसके अतिरिक्त, दही में कैल्शियम और अन्य बायोएक्टिव यौगिक भूख और चयापचय को विनियमित करने में भूमिका निभा सकते हैं।

6.हृदय स्वास्थ्य: Heart Health

दही के नियमित सेवन से हृदय रोग का खतरा कम हो जाता है।

दही में मौजूद प्रोबायोटिक्स, कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम स्वस्थ रक्तचाप के स्तर को बनाए रखने और हृदय संबंधी स्थितियों के जोखिम को कम करने में योगदान दे सकते हैं।

स्वास्थ्य लाभ को अधिकतम करने के लिए सादे दही या कम से कम चीनी वाले दही का चयन करना महत्वपूर्ण है।

संपूर्ण स्वास्थ्य और खुशहाली को बढ़ावा देने के लिए संपूर्ण और संतुलित आहार में दही को शामिल करना लाभकारी हो सकता है।

Leave a Reply

%d